तपाल सिंह सत्ती भाजपा के युवा प्रदेश अध्यक्ष हैं। वे 2012 से लगातार हिमाचल भाजपा के अध्यक्ष हैं। 2019 में होने वाले लोकसभा के चुनाव में भी हिमाचल की कमान उनके हाथों में रहेगी। उनके नेतृत्व में भाजपा ने दो विधानसभा चुनाव 2012 और 2017 लड़े हैं। 2014 के लोकसभा चुनाव में भी वे भाजपा के प्रदेशाध्यक्ष थे। सत्ती 2003 से लेकर 2017 तक लगातार ऊना विधानसभा से विधायक बने रहे। उनका कार्यकाल निर्विवादित रहा है। 2017 के विधानसभा चुनावों में जिन दिग्गजों को हार का सामना करना पड़ा था, उनमें सत्ती भी एक थे। सत्ती ने अपनी राजनीति की शुरुआत छात्र संगठन अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद से की थी। उनसे प्रदेश की राजनीति, सरकार के कामकाज और कई समस्याओं पर शिमला ब्यूरो प्रमुख सुनील शुक्ला ने बात की। यहां बातचीत के प्रमुख अंश दिए जा रहे हैं।


भाजपा सरकार के पांच महीनों के कार्यकाल को कैसा मानते हैं?

इन पांच महीनों में मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने प्रदेश के गरीब लोगों के लिए कई योजनाएं शुरू की हैं। जयराम ठाकुर ने अब तक 40 विधानसभा क्षेत्रों का दौरा किया है। शायद इतने कम समय में यह पहली बार हुआ है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तरह मुख्यमंत्री पिछड़े लोगों की चिंता कर रहे हैं।

लोकसभा चुनाव अब नजदीक हैं। भाजपा ने 2014 में सभी चार सीटें जीती थीं। क्या इस बार सभी सीटों को जीतने का दबाव रहेगा।

लोकसभा चुनावों में मोदी ने हिमाचल की जनता के साथ जो वायदे किए थे। वे वायदे इन चार सालों में पूरे हुए हैं। हिमाचल को इन चार सालों में जितना मिला है, कांग्रेस अपने शासन के 60 सालों में भी नहीं दे पाई है। मोदी ने अपने चार सालों में हिमाचल को एम्स, आईआईएम, आईआईटी, तीन मेडिकल कॉलेज, दो स्मार्ट सिटी दिए हैं। इसके साथ ही कांग्रेस के समय जो विशेष राज्य का दर्जा छिना था, वह भी मोदी ने ही वापिस दिलाया है। इन सब के कारण जनता चुनावों में मोदी के साथ खड़ी है।

क्या लोकसभा चुनाव में नए उम्मीदवार उतारे जाएंगे।

भाजपा के वरिष्ठ नेता शांता कुमार ने एलान किया है कि वे अब चुनाव नहीं लड़ेंगे। इसलिए संभावित है कि कांगड़ा से नया उम्मीदवार हो। अन्य तीन क्षेत्रों हमीरपुर, मण्डी और शिमला की उम्मीदवारी पर फैसला तो चुनाव समिति ही करेगी।

हिमाचल सरकार पर अफसरशाही का दबाव नजर आ रहा है?

मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर एक अनुभवी नेता हैं। सरकार अच्छा काम रही है। सभी निर्णय जनता की भावनओं के अनुसार हो रहे हैं। अफसरशाही वही कर रही है जो सरकार चाहती है। कांग्रेस झूठा प्रचार कर रही है।

क्या आप लोकसभा का चुनाव लड़ेंगे या राज्यसभा जाएंगे ?

मैं चुनाव के बार में नहीं सोचता। जो संगठन कहेगा वहीं काम करूंगा।

भ्रष्टचार पर सरकार की कोई कार्रवाई नजर नहीं आ रही है। ऐसा क्यों?

जब से हिमाचल में भाजपा सरकार बनी है। लगातार बदलाव नजर रहा है। जिला मुख्यालयों पर नशे का अवैध कारोबार करने वालों को पकड़ा गया है। इसके अतिरिक्त वन माफिया, खनन माफिया पर लगातार कार्रवाई जारी है। उन्हें पकड़कर जेलों में डाला जा रहा है।

संगठन में आप बड़े नेताओं के साथ कैसे तालमेल बैठाते हैं?

मैं अपने आप को सौभाग्यशाली मानता हूं कि मुझे प्रदेश के बड़े नेताओं शांता कुमार, प्रो. प्रेम कुमार धूमल और केन्द्रीय मंत्री जगत प्रकाश नड्डा के साथ संगठन में काम करने का मौका मिला। भाजपा एक परिवार के रूप में काम करती है। सभी निर्णय सामूहिक तौर पर लेती है। सभी के आशीर्वाद से अच्छा हुआ है।

आप 2012 से भाजपा अध्यक्ष हैं। इस लंबे अपने कार्यकाल को कैसे देखते हैं?

इतने लम्बे कार्यकाल सभी के स्नेह के कारण ही संभव हो पाया है। संघ परिवार का पूरा सहयोग मिला है। मैंने कभी अपने आप को असहज महसूस नहीं किया। सभी को मेरा स्वभाव पंसद है।

शिमला में हमेशा जल संकट बना रहता है। भाजपा पहली बार नगर निगम में काबिज हुई है। अपने वायदे कब तक पूरा करेगी।

शिमला में इन दिनों पर्यटन सीजन है। सरकार ने पानी की समस्या के समाधान के लिए उपाए किए हैं। शिमला में पानी की समस्या हमेशा रही है। जिसका सबसे बड़ा कारण लम्बे समय तक राज करने के बाद भी कांग्रेस ने इसके समाधान के लिए कोई योजना नहीं बनाई। हमारी केन्द्र से बात चल रही है। सतलुज से पानी उठाकर हम शिमला शहर को देने वाले हैं। इसी कार्यकाल में इस योजना को पूरा करने का प्रयास किया जाएगा।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here