कला संस्कृति सम्मेलन

शिकागो धर्म सम्मेलन में 125 वर्ष पूर्व स्वामी विवेकानंद ने अपने सारगर्भित भाषण में ऐसा क्या कहा कि आज भी उनकी स्मृतियां ताजा हैं। उनके शब्द आज...

विश्व हिंदी सम्मेलन कितना कामयाब?

हिंद महासागर के खूबसूरत देश मॉरीशस की राजधानी पोर्ट लुइस में आयोजित विश्व हिंदी सम्मेलन हिंदी प्रेमियों के दिलों में कुछ उम्मीद और उत्साह भरते हुए गुजरा...

कवियों ने नीरज को दी काव्यांजलि

देश भर ने जिस तरह से कवि नीरज के प्रति अपनी भावपूर्ण श्रद्धा प्रकट की, उसने ही यह स्थापित किया कि वे इस सदी के महानतम कवि...

गम आज नगमा है…

हिंदी काव्य-परंपरा की लगभग हर विधा कविता, गीत, दोहे, मुक्तक, गजल आदि में बेशुमार रचनाएं लिखने वाले गोपालदास नीरज की गिनती सर्वाधिक लोकप्रिय कवियों में होती है।...

इस बार मॉरीशसमें होगा जुटान

विश्व हिन्दी सम्मेलन का मॉरीशस में यह तीसरा सम्मेलन होगा। इस का आयोजन स्वामी विवेकानंद अंतरराष्ट्रीय संस्थान में होगा। यूं तो 2015 में दसवें विश्व हिन्दी सम्मेलन, भोपाल...

साहित्यधर्मिता कम, उत्सवधर्मिता ज्यादा

आवारा पूंजी के इस दौर में बाजार ने हर चीज को प्रभावित किया है। व्यक्तिगत, पारिवारिक, सांस्थानिक, सामाजिक, राजनीतिक और यहां तक आर्थिक स्तर पर भी बाजार...

संपादक की पसंद