समलैंगिकता अपराध नहीं लेकिन इसके बाद?

आखिरकार, समलैंगिक सबंधों को वैधानिक मान्यता दे दी गई। सर्वोच्च न्यायालय ने भारतीय दंड विधान की धारा 377 के उस हिस्से को असंवैधानिक करार दिया, जिसमें दो...

मानवीय कर्तव्यों से जोड़ता है रक्षासूत्र

भारतीय संस्कृति में विश्वास का बंधन अमूल्य माना गया है। रक्षाबंधन का पावन पर्व इसी विश्वास का प्रतीक है। हिन्दू संस्कृति में ‘सूत्र’ अविच्छिन्नता का प्रतीक माना...

शरिया अदालतों पर प्रतिबंध हो

आल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड ने दारुल कज़ा यानी शरिया अदालतों की वकालत शुरू कर दी है। इसके सदस्य जफरयाब जिलानी के अनुसार बोर्ड देश भर...

अब कलियुग में भी पैदा होंगे अभिमन्यु

मां के पेट से कोई सीख कर नहीं आता’ अकसर यह कहावत सुनने को मिल जाती है। बस अर्जुन पुत्र अभिमन्यु ही इस कहावत के अपवाद हैं।...

रिश्तों में दरार बनाता सोशल मीडिया

दिनचर्या में फेसबुक, वाट्सएप जैसे अन्य सोशल मीडिया प्लेटफार्मों का उपयोग लगातार बढ़ता जा रहा है। हर नये के साथ नये प्रकार की समस्याएं भी जन्मती है।...

एक रात, 11 मौत और अंधविश्वास

दिल्ली में बुराड़ी के संतनगर में 30 जून की रात एक मकान में जो कुछ हुआ, उस पर अब भी भरोसा नहीं होता। एक रात और 11...

बूढ़ी होती आबादी के लिए हम तैयार हैं?

बारह हजार करोड़ की रेमंड ग्रुप के मालिक 78 वर्षीय विजयपत सिंघानिया एक-एक पैसों के लिए मोहताज हो गए। उनके बेटे गौतम ने उन्हें न केवल घर...

आम किसान से बांध निर्माता बनने का सफर

अमूमन हर राजनीतिज्ञ खुद को समाजसेवी बताता है। इनमें से भी ज्यादातर पूर्णकालिक राजनीति में आने के बाद टिकट और कुर्सी की जोड़तोड़ में लग जाते हैं...

सिंदूर ‘पोतना’ या ‘सजाना’

छठ पूजा के दौरान मांग माथे तक सिंदूर लगाने को लेकर हिंदी अकादमी की उपाध्यक्ष मैत्रेयी पुष्पा ने सोशल मीडिया पर सवाल पूछा, जिस पर लगातार...

इज्जत के नाम पर हत्या बर्दाश्त नहीं: सुप्रीम कोर्ट

सर्वोच्च न्यायालय ने साफ कर दिया है कि इज्जत और परंपरा के नाम पर की जाने वाली हिंसा को स्वीकार नहीं किया जा सकता। इस पर लगाम...

संपादक की पसंद