आसान नहीं स्टालिन की राह

द्रविड़ मुन्नेत्र कड़गम (डीएमके) के पहले अध्यक्ष का कार्यकाल पूरे पांच दशक, वह भी उनके निधन के बाद समाप्त हुआ। वर्ष 1949 में बने इस राजनीतिक दल...

एक नए ‘स्टार वार’ की तैयारी

एम. करुणानिधि के निधन और उनके छोटे पुत्र स्टालिन के उनके स्थान पर डीएमके का सर्वोच्च पद संभालने के साथ ही तमिलनाडु की राजनीति का एक युग...

भाजपा बढ़ी तो करेगी भरपाई

शाह की यात्रा के बाद अब हर राजनीतिक समीक्षक के मन में यह सवाल उठ रहा है कि क्या तमिलनाडु की 39 लोक सभा सीटों में से...

राज्यपाल बनाम नेता विपक्ष एक अनोखी तकरार

राज्यपालों की नियुक्ति पर हर राजनीतिक दल की अपनी राय बदलती रही है। फिर भी एक बार राज्यपाल ने अपना पद संभाल लिया, उसके बाद कुछ खास...

कहां से सुलगी तूतीकोरिन में आग?

तूतीकोरिन स्टरलाइट कॉपर प्लांट- विवाद के शुरुआत में पुलिस फायरिंग के दौरान 13 लोगों की मौत हो गई। इस हिंसक मामले में 67 लोग घायल हो गये।...

संपादक की पसंद